ब्लॉग के लिये होम पेज कैसे बनाए

होमपेज क्या है? – what is home page in hindi?

होमपेज बनाने का तरीका जानने से पहले एक महत्वपूर्ण बात जानना कि होमपेज है क्या यह जानना आवश्यक है।

होमपेज हमारे ब्लॉग में ऐसी जगह है जहां लोग ब्लॉग एड्रेस में सबसे पहले विजिट करते है। जैसे कि एक एड्रेस लेकर देखते है http://www.infowere.com यदि हम इस एड्रेस को एड्रेस बार में टाइप करे और विजिट करे तो हम infowere के होमपेज में पहुंच जाएंगे जो हमारा एड्रेस पर लैंडिंग होगा। इसके बाद इस होमपेज के जरिए ब्लॉग में उपस्थित अन्य सेक्शन में जाएंगे।

होम पेज कैसे बनाए? – how to create homepage in hindi?

ब्लॉग में होमपेज के लिए दो ऑप्शन्स मिलते है एक तो आप अपने लेटेस्ट पोस्ट को ही होमपेज में शो कर सकते है और दूसरा आप खुद से एक पेज डिजाइन करके उसे होमपेज की तरह इस्तेमाल कर सकते है।

blog ke liye homepage kaise banaye how to create homepage in blog in hindi
Homepage image

हमने जाना कि होमपेज में विजिटर सबसे पहले विजिट करते है। मगर यदि वह किसी पोस्ट लिंक को क्लिक करता है तो direct उस पोस्ट पर पहुंचता है जिस पर विजिटर क्लिक करता है।

होमपेज कैसा होना चाहिए ये हम आपको कुछ बिंदुओं के माध्यम से बताने की कोशिश करेंगे जो नीचे दिया गया है –

डिजाइन – Design

होमपेज के लिए डिजाइन पर ध्यान देना महत्वपूर्ण है। क्योंकि जब भी हम कहीं जाते है चाहे वह एप्लिकेशन में हो ब्लॉग में हो या किसी जगह पर हो हम वहा तभी रुकते है जब हमें उसका डिजाइन पसंद आए वह जगह पसंद आए। ठीक इसी प्रकार यदि आप अपने विजिटर को अपने होमपेज में रोकना चाहते है और उस होम पेज में रखे कंटेंट को दिखाना चाहते है तो अपने होमपेज को बनाते समय उसके डिजाइन के बारे में सोचे और ऐसे डिजाइन दे जो लुभावने हो। जिसमें आंखों को परेशानी ना हो जो इरिटेटिंग ना हो। और आपका होम पेज उस थीम पर डिजाइन हो जो आपका ब्लॉग हो।

कलर – colour

यह तो सभी जानते है कि कलर के बिना बहुत कुछ अधूरा लगता है। इसका मतलब ये नहीं कि कहीं भी कुछ भी कलर इस्तेमाल करे।

कई कलर हमें बहुत अच्छा लगता है पर कई कलर हमें अच्छा नहीं भी लगता है। तो इस बात का ध्यान रखे की कलर कहीं का भी ही जैसे कि बैकग्राउंड, टेक्स्ट या इमेजेस उसमे अपनी पसंद को रंगने की कोशिश ना करे इससे आपका होमपेज आपको तो अच्छा लगेगा मगर यह फिक्स नहीं है कि वह औरो को भी पसंद आए।

अब ऐसे में ये बात सामने आती है कि हम कौन सी कलर का इस्तेमाल करे। आप अपने ब्लॉग के लिए ऐसी कलर को चुने जो ज्यादा लाइट रिफ्लेक्ट ना करे ज्यादा भड़कीला ना हो। आंखों में चुभे ना इस बात का भी ध्यान रखे। और आंखों में ठंडकता बनी रहे ऐसे कलर का उपयोग करे। इससे आपका विजिटर हर्ष से आपके ब्लॉग को पढ़ेगा और ध्यान दे पाएगा।

कई ब्लॉगर अपने ब्लॉग में कलर तो डालते है मगर बहुत ही ज्यादा कलर डाल देते है। ये कलर विजिटर की आंखो में चुभने लगता है और विजिटर को नींद आने लगता है और वह इरिटेट भी हो जाता है। और ब्लॉग से बाहर निकल जाता है।

शब्दों का आकार – Text size

शब्दों के आकार को ऐसे रखे की विजिटर को देखने में कोई परेशानी ना हो और साथ ही हेडिंग, सब हेडिंग, और पैराग्राफ में अंतर समझ आ जाए। हेडिंग टेक्स्ट को बड़ा रखे, सब हेडिंग को उससे छोटा और पैराग्राफ को उससे भी छोटा।

स्वागत लेख – Welcome notes

सबसे पहले अपने होमपेज पर विजिटर का स्वागत करे। और स्वागत के लिए छोटा सा स्वागत लेख लिखे जैसे –

infowere में आपका स्वागत है हमें उम्मीद है आपको हमारा पोस्ट पसंद आएगा। यह ब्लॉग हम A B C… की जानकारी के लिए सर्विस प्रोवाइड करता है। आदि आपको हमारा ब्लॉग अच्छा लगे तो फॉलो करना ना भूले।

इस तरह आप अपने विजिटर का विनम्रता से स्वागत कर सकते है और इस नोट के नीचे एक सब्सक्रिप्शन फॉर्म एंबेड कर दे।

लेटेस्ट पोस्ट – latest post

लेटेस्ट पोस्ट यह होमपेज में रखना बहुत ही आवश्यक है कम से कम दस लेटेस्ट पोस्ट लिस्ट हॉरिजॉन्टल स्क्रॉल के साथ दूसरे नंबर में रखे। इससे आपके विजिटर को लेटेस्ट पोस्ट की जानकारी होमपेज पर ही मिल जाएगी और वहां से वो पढ़ भी सकते है। इससे एक फायदा यह भी होगा कि नए पोस्ट चाहे किसी भी ग्रुप या कैटेगरी को हो वह लेटेस्ट पोस्ट में दिखेगा और विजिटर को कैटेगरी तक जाना भी नहीं पड़ेगा।

पॉपुलर पोस्ट – Popular post

पॉपुलर पोस्ट मतलब जो पोस्ट सबसे ज्यादा देखे गए। अर्थात यह पोस्ट बहुत अच्छी और काम की होती है जो विजिटर के द्वारा ही इसे पॉपुलर बना दिया जाता है। ऐसे पोस्ट को आप अपने नए एवम् अन्य विजिटर को अवश्य बताएं ताकि वह इस पर क्लिक करके पढ़ने का प्रयास करे। पॉपुलर पोस्ट को आप तीसरे नंबर पर हॉरिजॉन्टल व्यू में रखे इसमें भी कम से कम दस पोस्ट रखे।

कैटेगरी – Category

उसके बाद कैटेगरी को रखे और सभी कैटेगरी को एक इमेज के साथ रखे जो आपके कैटेगरी को शो करे। इससे आपके विजिटर को पता चल जाएगा कि इसमें उसके लिए कोई कंटेंट है या नहीं और वहा से उस कैटेगरी में डायरेक्ट विजिट करेगा।

रेटिंग – Rating

रेटिंग जो आपके ब्लॉग को आपके विजिटर यानि की पब्लिक द्वारा मिला होता है। ये 5 स्टार या इसके अंदर कुछ भी हो सकता है जैसा ब्लॉग का रेस्पॉन्स हो। ये आपके ब्लॉग का क्वालिटी को बताता है। और यह बताता है कि लोग आपके ब्लॉग को कितना पसंद करते है। आप इसे कैटेगरी के नीचे शो करे ताकि आपके विजिटर को आपके ब्लॉग की रेटिंग पता चले और उसी के नीचे रेटिंग फॉर्म भी एंबेड करे जिससे विजिटर आपके ब्लॉग को रेटिंग दे सके।

लेखक टीम – Writer team

होमपेज पर आप अपने टीम मेंबर का इमेज और उसके बारे में थोड़ा इंट्रो देकर विजिटर को बता सकते है कि उस ब्लॉग में विजिटर को क्या क्या आर्टिकल किसके द्वारा लिखा जाता है। इससे विजिटर को आपके ब्लॉग पर अधिक विश्वास होने लगता है। जैसे – आपका ब्लॉग मेडिसिन से रिलेटेड है और आपके ब्लॉग में dr. टीम मेंबर है तो आप उनका उल्लेख अवश्य करे।

अर्चिवमेंट – Archivement

ब्लॉग के होमपेज में विजिटर ज्यादा आते उसके बाद किसी पेज में जाते है तो यह अपने आर्चिवमेंट का डिटेल्स शो करने पर विजिटर आपके ब्लॉग की ग्रोथ के बारे में जानेंगे और आपके ब्लॉग के प्रति सोच एक प्रोफेशनल होने लगता है। इसमें आप अवॉर्ड, रिवॉर्ड, सर्टिफिकेट,इवेंट आदि को डाल सकते है।

उम्मीद है आपको यह पोस्ट अच्छी लगी होगी। यदि आपका कुछ सवाल है या सुझाव है तो आप कमेंट कर सकते है।

2 comments

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  बदले )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  बदले )

Connecting to %s

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.